यौन स्वास्थय

सेक्स के दौरान वीर्य कम निकलने का कारण क्या है? जानिये वजह|

वीर्य में कमी का मतलब यह है की सेक्स के दौरान पुरुष के लिंग से वीर्य कम निकलता है। इस समस्या में पुरुष के शुक्राणुओं में कमी आ जाती है। पुरुषों में उत्तेजना के दौरान मूत्र के मार्ग से जो द्रव्य निकलता है उसे ही वीर्य कहा जाता है। 

आज के दौर में इस समस्या से लगभग 40-50 प्रतिशत पुरुष पीड़ित हैं। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि उनकी जीवनशैली दिन ब दिन बिगड़ती जा रही है।लेकिन फिर भी यह समस्या आम नहीं है। क्योंकि बहुत से पुरुष तो ऐसे भी हैं जो वीर्य कम निकलने की समस्या से पीड़ित होने के बावजूद भी इसे छुपाते हैं। किसी को बताते नहीं हैं। 

वीर्य कम निकलने का कारण क्या है?

आमतौर पर एक स्वस्थ पुरुष में शुक्राणुओं की संख्या प्रति मिलीलीटर वीर्य में 1.5 से 3.9 करोड़ हो तो इसे सामान्य माना जाता है। जब शुक्राणुओं की संख्या 1.5 करोड़ से कम होती है तब पुरुषों में वीर्य कम होने की समस्या होती है। 

इस समस्या की वजह से पुरुषों में प्रजनन की क्षमता कम हो जाती है। वीर्य कम होने की वजह से और भी बहुत तरह की मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। इस समस्या के शरुआत में ही वीर्य की कमी के लक्षण दिखने लगते हैं। 

यह पुरुषों के लिए बहुत बड़ी समस्या होती है, जिस पर वो खुल कर बात नहीं करते हैं। लेकिन आज मैं शुक्राणुओं की संख्या में कमी होने की वजह के बारे में बात करूंगी। तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़िये।  

पढ़ें: शुक्राणु बढ़ाने की दवा पतंजलि | सेक्स पावर कैप्सूल से बढ़ाएं कामेक्षा

वीर्य की कमी के लक्षण 

जब पुरुषों में वीर्य की कमी होती है तब शुरुआत में ही कुछ लक्षण दिखाई देने लगते हैं। लेकिन बहुत से पुरुष लक्षण दिखने के बाद भी समझ नहीं पाते हैं की उनको क्या समस्या है। तो चलिए जानते हैं की किस तरह के लक्षण दिखायी देने पर आपको समझ जाना चाहिए की आप वीर्य की कमी की समस्या से पीड़ित हैं। 

1.यौन गतिविधियों में समस्याएं

वीर्य की कमी होने की वजह से पुरुषों में यौन गतिविधियों में भी दिक्कत होने लगती है। जैसे की सेक्स करते समय कामेच्छा में कमी(सेक्स करते समय उत्तेजना में कमी होना) होने लगती है। 

पुरुष सेक्स करते समय बहुत अधिक दिलचस्पी नहीं दिखाते हैं। इसके अलावा सेक्स के दौरान स्तंभन को बनाये रखने में भी कठिनाई का सामना करना पड़ता है। 

2.प्रजनन क्षमता में कमी आना

यदि पुरुषों के अंदर वीर्य की कमी हो जाती है तो उनके शुक्राणुओं के अंदर प्रजनन की क्षमता भी कम हो जाती है। मतलब यह है यदि पुरुष महिला से साथ लंबे समय से संभोग कर रहा है और महिला गर्भवती नहीं हो पा रही है तो यह भी वीर्य कमी के लक्षण हैं।

3.यौन रूचि में कमी होना

पुरुष के अंदर वीर्य की कमी होने की वजह से वह पुरुष संभोग करने मे कोई भी कोई रुचि नहीं लेता है। क्योंकि इसमें पुरुष का लिंग सख्त ना होना और स्तंभन बनाये रखने की समस्या आती है। 

4.वृषण(नर जनन ग्रन्थि) में दर्द होना

वीर्य की कमी की वजह से पुरुष के वृषण में भी कभी-कभी काफी दर्द होता है।

5.हार्मोन का असंतुलित होना

वीर्य की कमी होने पर पुरुषों के शरीर में हार्मोन भी असंतुलित भी हो जातें हैं। जिसकी वजह से पुरुषों में बाल झड़ने, थकान,चिड़चिड़ाहट आदि की समस्या देखी जा सकता है। 

वीर्य की कमी के कारण

पुरुषों के अंदर वीर्य की कमी के कई कारण हो सकते हैं।जिसके वजह से शुक्राणु कम बनते हैं। यदि नीचे दिए कारणों में से कुछ भी आप अपनी दिनचर्या में करते हैं तो ये आदत वीर्य की कमी का कारण हो सकती है। 

  • लिंग का बहुत अधिक गरम होना या उसके ऊपर लैपटॉप रखकर चलाना। 
  • बहुत अधिक टाइट पैंट पहनना।
  • शरीर में हार्मोन का असंतुलित होना। 
  • अधिक धूम्रपान करना। 
  • बहुत अधिक शराब का सेवन करना। 
  • मोटापा होना। 
  • एक्स-रे के संपर्क में आना। 
  • लिंग या अंडकोष की सर्जरी होना। 

पढ़ें : पतंजलि सफेद पानी की दवा- Leucorrhea के कारण और इलाज

 वीर्य की कमी दूर करने के घरेलु उपाय

पुरुषों में वीर्य की कमी को दूर करने के लिए आप नीचे दिए घरेलू उपाय को अपने रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल करेंगे तो आपको इस बीमारी से छुटकारा पाने में काफी मदद मिलेगी। 

1.वीर्य की कमी दूर करने के लिए पर्याप्त नींद लें

वीर्य की कमी दूर करने के लिए पर्याप्त नींद लें

पर्याप्त मात्रा में नींद ना लेने की वजह से भी पुरुष इस बीमारी का शिकार हो जाते हैं। इसलिए पर्याप्त मात्रा में नींद लेना चाहिए। दिन भर की थकान के बाद किसी भी व्यक्ति को कम से कम 7-8 घंटे की नींद जरूर लेना चाहिए।

2.अपना वजन शरीर के मुताबीक संतुलित करें

अपना वजन शरीर के मुताबीक संतुलित करें

व्यक्ति के शरीर का वजन जरूरत से ज्यादा बढ़ने से शरीर में चर्बी व बढ़ जाती है। जिससे शरीर में कई अन्य बीमारियाँ भी हो जाती हैं। इसलिए अपने दैनिक दिनचर्या में व्यायाम को भी समिल करना चाहिए।

3.संतुलित आहार का सेवन 

संतुलित आहार का सेवन 

शरीर में शुक्राणु की संख्या को बढ़ाने के लिए व्यक्ति को संतुलित भोजन करना चाहिए। संतुलित भोजन करने से व्यक्ति का शरीर कुपोषण का शिकार नहीं होता है। 

इसलिए आप भोजन में हरी सब्जियाँ-फल जैसे चुकंदर, टमाटर, मेथी दाना इत्यादि का सेवन करें। ऐसे भोजन में भरपूर मात्रा में खनिज और विटामिन तत्व पायें जाते हैं।

4.वीर्य बढ़ाने में लहसुन का उपयोग 

लहसुन के अंदर विटामिन B6 और सेलेनियम की अच्छी मात्रा होती है जो शुक्राणु को बढ़ाने में बहुत अहम भूमिका निभाता है। जिन पुरुषों को वीर्य की समस्या है उन्हे प्रतिदिन 2 लहसुन की कली पानी के साथ या कच्चा खाना चाहिए। 

5.अश्वगंधा का प्रयोग 

वीर्य की कमी को दूर करने के लिए अश्वगंधा सबसे उपयोगी साबित होता है। इसलिए यदि वीर्य की समस्या लगे तो आप अश्वगंधा का चूर्ण बनाकर कर सुबह-शाम गरम पानी से लें। आपको बहुत जल्दी फायदा मिलेगा। 

 

 पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता। 

एक सामान्य तौर से बच्चा पैदा करने के लिए पुरुष का स्पर्म प्रति एमएल से कम से कम 20 मिलियन स्पर्म होना चाहिए। 

शुक्राणुओं की संख्या कैसे बढ़ाएं?

शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए अपनायें ये तरीके:
1.मसूर दाल– मसूर दाल में फोलिक एसिड पाया जाता है जो पुरुषों की प्रजनन क्षमता के लिए काफी एक्टिव रूप से कार्य करता है। 
​​2.अश्वगंधा– अश्वगंधा भी वीर्य को बढ़ाने में मदद करता है। यह पहाड़ी इलाकों में पाया जाने वाला जड़ी-बूटी पौधा है। जिसका इस्तेमाल सभी आयुर्वेदिक दवाओं में किया जाता है।  
​3.केला– केले के अंदर ब्रोमालाइन नामक एन्जाइम पाई जाती है जो सेक्स संबंधित समस्या को दूर करती है। इसलिए यदि वीर्य की समस्या है तो केले का रोजाना सेवन करें।  
4. शतावरी– शतावरी भी एक आयुर्वेदिक औषधि है जो वीर्य बढ़ाने में बहुत मददगार साबित होती है। 

1 दिन में कितने शुक्राणु बनते हैं?

यदि पुरुष स्वस्थ है तो उसके अंदर प्रति सेकेंड 1,500 स्पर्म्स (शुक्राणु) बनते हैं. तो इससे अंदाजा लगाया ही जा सकता है की एक दिन में कितने सारे शुक्राणु बनते हैं।

सबसे अच्छी दवा शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए

शुक्राणु को बढ़ाने के लिए सबसे अच्छी दवा है अश्वगंधा। वीर्य बढ़ाने में अश्वगंधा का प्रयोग सदियों से बहुत प्रचलित है। इसलिए अश्वगंधा का पाउडर लीजिए और एक चम्मच रोजाना दूध के साथ पी लीजिए इससे बहुत जल्द फायदा होगा।

निष्कर्ष

वीर्य कम निकलना आजकल पुरुषों में आम बीमारी हो गई है। इस बीमारी से बहुत सारे पुरुष परेशान हैं। लेकिन गुप्त रोग होने की वजह से पुरुष इसको बताने से शर्माते हैं। लेकिन इसमें कोई शर्माने वाली बात नहीं है, क्योंकि लगभग सभी पुरुष इससे परेशान हैं। 

इसलिए मैंने इस बारे में खुलकर बात की है इसलिए यदि आप भी इससे परेशान हैं तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। क्योंकि इस बीमारी में जितना देर करेंगे आपको उतना ही नुकसान पहुँचेगा। 

इस पोस्ट के माध्यम से मैंने वीर्य की कमी के लक्षण और वीर्य के घरेलू उपचार भी बताएं हैं। यदि आपको भी ऐसे कुछ शुरुआती लक्षण दिखाई दें तो आप भी यहाँ बतायें गए घरेलू उपचारों को आजमा सकते हैं आपको जरूर लाभ होगा। 

Leave a Comment