दैनिक स्वास्थ्य स्वास्थ्य सलाह

सूजन में क्या नहीं खाना चाहिए | सूजन कम करने के घरेलु उपचार

अपने स्वास्थ के प्रति जब हम सचेत नहीं होते हैं तो आम तौर पर सूजन शरीर के किसी भी हिस्से में आ जाती है। खासकर पैर के पंजों में सूजन आना एक आम समस्या है। 

लेकिन जब ये सुजन शरीर के अलग-अलग हिस्सों में होने लगे तो ये शरीर में छुपी किसी बड़ी बीमारी का संकेत होता है। क्योंकि जो आमतौर पर सूजन होता है वो दो या तीन बार से अधिक नहीं होता हैं।

अक्सर सूजन शरीर में अत्यधिक पानी इकट्ठा होने या खून की कमी होने की वजह से होता है। जब शरीर में अतरिक्त पानी और गंदगी जमा हो जाती है तो शरीर में सुजन होने लगती है। 

कभी-कभी बहुत अधिक चलने पर भी पैरों में सूजन आ जाती है। इसके अलावा अधिक सोने से आँखों में सूजन आ जाना कोई गंभीर समस्या नहीं है। 

लेकिन लंबे समय तक सूजन का रहना गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। इसलिए आज इस पोस्ट में मैं सूजन और पूरे शरीर में सूजन के कारण के बारे में बात करूंगी। यहाँ मैं यह भी बताऊँगी की सूजन में क्या नहीं खाना चाहिए और सूजन के उपचार क्या हैं?

पढ़ें: गर्भ निरोधक गोली के इस्तेमाल से पाए अनचाहे गर्भ से छुटकारा| फायदे और नुकसान

पूरे शरीर में सूजन के कारण क्या हैं?

कभी-कभी व्यक्ति के पूरे शरीर में सूजन हो जाती है, इसके कई वजह हो सकते है। जब शरीर में पानी बढ़ जाता है और खून की कमी होने की वजह से पूरे शरीर में सूजन हो जाती है। 

शरीर में जब कोई बाहरी वायरस,बैक्टीरिया या अन्य माइक्रोऑर्गेनिज्म आने की कोशिश करता है तब शरीर इससे बचने के लिए संबंधित अंग में सूजन पैदा कर देता है। जिससे शरीर में अन्य अंगों में सूजन की समस्या हो जाती है। 

आम तौर पर सूजन शरीर में गलत रक्तसंचार के कारण होता है। शरीर में जब रक्तवाहिनियों में रक्त का प्रवाह ठीक तरीके से नहीं होता है तो वहाँ की त्वचा फूलने लगती है। 

यह सूजन कभी-कभी दर्द भी देती है, लेकिन आमतौर पर होने वाले सूजन में दर्द नहीं होता है। पूरे शरीर में सूजन के कई कारण हो सकते हैं। 

  • बहुत अधिक चलने के वजह से पैरों में हाथों में सूजन आ जाती है।  
  • कोई भारी समान उठाने पर भी हाथों पर जोर पड़ता है जिससे सुजन आ जाती है। 
  • बहुत देर तक खड़े रहने की वजह से। 
  • खून की कमी होने की वजह से। 
  • शरीर में पानी अधिक पानी होने की वजह से। 
  • अधिक देर तक सोने की वजह से आँख में सूजन हो जाती है। 
  • कुछ महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान भी पैर में सूजन की समस्या देखी जाती हैं क्योंकि इस दौरान महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजेन की मात्रा बढ़ जाती है जिसकी वजह से किडनी ज्यादा पानी रोकना शुरू कर देती है।जिससे सूजन की समस्या हो जाती है। 

पढ़ें: सेक्स के दौरान वीर्य कम निकलने का कारण क्या है? जानिये वजह|

सूजन काम करने के घरेलु उपचार

सूजन कई सारे कारणों की वजह से हो सकते हैं। इसको ठीक करने के लिया कई तरह की दवाईयों का इस्तेमाल भी किया जाता है। लेकिन ये दवाईयां कभी-कभी नुकसान दायक होती हैं। 

इसलिए आप इन दवाईओं के इस्तेमाल से बचने के लिए कुछ घरेलू उपाय भी आजमा सकते हैं। ये घरेलू नुस्खे बहुत फायदेमंद होते हैं। इन घरेलू उपायों से आपको कोई नुकसान भी नहीं होते हैं। तो चलिये आपको मैं कुछ घरेलू नुस्खे बताती हूँ। 

हल्दी: हल्दी में बहुत से ऐसे गुण होते हैं की जो लाभकारी होते हैं। हल्दी एक एण्टीबाओटिक होता है। को हमारी शरीर में सूजन को ठीक करते हैं। हल्दी हमारी कोशिकाओं की मरम्मत करके उनको स्वस्थ रखने में मदद करती है।  

गुड़हल: गुड़हल भी एक एंटीएंटीऑक्सिडें के रूप में काम करता है, इसके अंदर घाव को ठीक करने की तीव्र क्षमता होती है। जिससे घाव जल्दी भर जाते हैं। इसलिए शरीर के बाहरी हिस्सों में सूजन होने पर गुड़हल के फूल को पीसकर इसका पेस्ट बनाकर अपने घाव वाली जगह पर लगा लें। 

जायफल: जायफल बहुत से रोगों को मिटाने की क्षमता रखता है। इसमें मौजूद मिनरल और विटामिन शरीर के सुआजन को कम करने में मदद करते हैं। इसलिए जायफल को सील-बट्टे को पर पीसकर इसको सुजन वाली जगह पर लगाएं। सुजन में बहुत आराम मिलेगा। 

 हाथ पैर में सूजन होने पर क्या नहीं खाना चाहिए?

हाथ पैर में सूजन होने पर हमें अपने खाने-पीने पर ध्यान देना चाहिए। जहाँ हमें कुछ हानिकारक खाद्य पदार्थों से परहेज करना चाहिए। इन चीजों के परहेज करने से हाथ-पैर के सूजन जल्दी ठीक हो जाते हैं। नीचे दिए गए खाद्य पदार्थों से परहेज करें।

  • अधिक मीठे और अधिक नमक का सेवन ना करें। 
  • हालांकि सूजन पानी की वजह से अधिक होता है, इसलिए सूजन होने पर पानी का सेवन कम करें। 
  • सुजन होने पर शराब और तंबाकू जैसे हानिकारक पदार्थों का सेवन ना करें। 
  • अधिक दूर तक पैदल ना चलें। 
  • बासी और, बाहर के जंक खाने से बचें। 
  • कैफीन युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें। 

पढ़ें : रुका हुआ पीरियड कैसे आएगा|रुका हुआ पीरियड लाने के घरेलू उपाय

 लिवर सूजन में क्या नहीं खाना चाहिए?

आजकल के गलत खान-पान और गंदी आदतों के वजह से शरीर में बहुत सारी बीमारी भी हो रही है। जिसमें से लीवर में सूजन भी इन्ही गलत खान-पान की वजह से होता है। 

लिवर में सूजन होने से खाना ठीक तरीके से पचता नहीं है जिससे शरीर को भरपूर पोषण नहीं मिलता है। इसलिए लिवर में सूजन होने पर कुछ हानिकारक खाद्य पदार्थों से परहेज करना चाहिए। 

  • लिवर में सूजन होने पर कड़ा खाना नहीं खाना चाहिए। इससे लिवर को पचाने में और मेहनत लगती है। 
  • लिवर में सूजन होने पर शराब और तंबाकू का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 
  • तेल-मसालें वाले भोजन से परहेज करना चाहिए। 
  • तीखा-भोजन से परहेज करना चाहिए। 

आंतों में सूजन हो तो क्या खाना चाहिए?

आंतों में सूजन होने की वजह पेट में बहुत दर्द होता है। आंत हमारे द्वारा किए गए भोजन को पचाकर अतरिक्त अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। 

लेकिन जब इसमें सूजन आ जाती है तो ये बेकार पदार्थ भी हमारे शरीर में रुकते हैं जिससे हमारे शरीर को हानी पहुँचती है। आंतों में सूजन होने पर हमें खाने का ध्यान रखना चाहिए।  

  • हरी सब्जियां खाएं
  • हल्दी और अदरक का सेवन
  • जैतून या इसका तेल 
  • प्रोबायोटिक्स(शरीर के लिए उपयोगी बैक्टीरिया फूड खाये़

चेहरे की सूजन कम करने के उपाय?

अधिक सोने की वजह से चेहरे में सूजन हो जाती है। जिसकी वजह से चेहरा भद्दा दिखने लगता है। शरीर में जब नमक की मात्रा बढ़ जाती है तब चेहरे में सूजन आ जाती है। इसलिए चेहरे के सूजन को कम करने के लिए अपने खाने में नमक की मात्रा बढ़ायें। 

  • पोषण से भरपूर भोजन करें। 
  • चेहरे पर गरम तेल से हल्की मालिश करें। 
  • चेहरे की त्वचा को बहुत अधिक रगड़े नहीं। 
  • फाईबर युक्त भोजन करना चाहिए। 

सूजन कम करने की दवा

दर्द और सूजन कम करने के लिए बहुत सी अंग्रेजी और आयुर्वेदिक दवाईयां भी आती है। इन दवाईयों के इस्तेमाल से सूजन और सूजन से होने वाले दर्द में राहत मिलती है। 

दर्द और सूजन के लिए एसिक्लोफेनाक – Aceclofenac प्रेसेर्वेस Preservex. एसिक्लोफेनाक एक दवा है जिसे गैर-स्टेरायडल एंटी-इन्फ्लैमटोरी दवा कहा जाता है। इसे ‘एनएसएडी‘ के रूप में भी जाना जाता है।

 सूजन कम करने के लिए क्या क्या खाना चाहिए?

सूजन को कम करने के लिए बहुत से पोषण युक्त भोजन करना चाहिए। इसके लिए हरी पत्तेदार सब्जियाँ, साबुत अनाज, और इसके अतरिक्त तेल युक्त मछली का सेवन करें। तेल युक्त मछली खाने से दर्द में बहुत आराम मिलता है। इसके अलावा मेवे और सोयबिन भी सूजन को कम करने में बहुत मददगार साबित होते हैं। 

 सूजन क्यों आती है? 

सूजन होने के कई कारण हो सकते है। जब शरीर में खून की कमी हो जाता है और पानी की मात्रा अधिक हो जाती है तो हाथ पैर या शरीर के अलग-अलग हिस्सों में सूजन होने लगती है। 
1.किसी जगह पर अधिक देर तक बैठने से सूजन हो जाती है। 
2.बहुत अधिक चलने से भी पैरों में सूजन हो जाती है। 
3.बहुत अधिक वजन बढ़ने से भी शरीर में सूजन हो जाती है। 

पैरों में सूजन हो तो क्या करना चाहिए? 

रों में सूजन होने पर आप आप इन घरेलू उपायों को आजमा कर पैरों की सूजन को कम कर सकते हैं। 
1.यदि आपके पैरों में सूजन हो जाए तो आपको अपने पैरों की गरम पानी से सिकाई करनी चाहिए। 
2.पैरों के सूजन को दूर करने के लिए आपको पैरों में गरम तेल मालिश करना चाहिए। 
3.सूजन कम करने के लिए धनिया भी बहुत उपयोगी है उसका पेस्ट बनाकर पैरों में लगाएं। 
4.पैरों की सूजन को हटाने के लिए अपने पैर में गरम पट्टी बाधे। 
5.सूजन कम करने के लिए बहुत अधिक ना चलें। 

लिवर में सूजन होने पर क्या क्या नहीं खाना चाहिए?

लिवर में सूजन होने पर अधिक तेल-मसाले वाला भोजन नहीं करना चाहिए। क्योंकि अधिक तेल मसाले वाले भोजन से लिवर का सूजन बढ़ता है। तो आप जितना हो सके कम मसाले खाएं और पानी पिए।

निष्कर्ष 

आजकल के खराब भोजन और दिनचर्या के कारण शरीर के किसी भी हिस्सों में सूजन हो जाती है। सूजन होने के कई कारण होते हैं। लेकिन सूजन होने पर व्यक्ति को अपने शरीर का अधिक ध्यान रखना चाहिए। 

इसलिए शरीर का ध्यान रखने के लिए और सूजन कम करने के मैंने इस पोस्ट में कुछ घरेलू उपाय भी बताएं हैं। इन घरेलू को आजमा कर आप अपने सूजन को कम कर सकते हैं। 

मैंने इस पोस्ट में सूजन के कारण और घरेलू उपाय भी बताएं, जो बहुत ही फायदेमंद है। मुझे उम्मीद है की ये नुस्खे आपके लिए फायदेमंद होंगे। यदि आपको शरीर में सूजन से संबंधित कोई सवाल पूछना है, तो आप मुझे कमेन्ट करके बता सकते हैं।

Leave a Comment