यौन स्वास्थय

रुका हुआ पीरियड कैसे आएगा | रुका हुआ पीरियड लाने के घरेलू उपाय

रुका हुआ पीरियड कैसे आएगा? : रुका हुआ पीरियड लड़कियों के लिए समस्या की वजह बन जाती है। जब भी मासिक धर्म की रुक जाता है तो लड़कियों और महिलायें घबरा जाती है की किस वजह से उनका पीरियड रुक गया है।

वैसे पीरियड रुकने की बहुत सारी वजह होती है। जब महिलायें गर्भवती होने वाली रहतीं है तब भी पीरियड रुक जाता है लेकिन इस वक्त उन्हे वजह पता होती है की क्यों पीरियड नहीं आ रहा।

लेकिन कई बार किसी और भी वजहों से पीरियड नहीं आता है। इन कारणों में तनाव में वृद्धि, वजन कम होना, मोटापा, पीसीओडी आदि जैसी समस्याये सामील हैं। लेकिन इसमें परेशान होने वाली कोई बात नहीं है। कभी-कभी मासिक-धर्म में अनियमितता आ जाती है।

रुके हुए पीरियड को वापस लाने के उपाय

पीरियड को वापस लाने के लिए बहुत से डॉक्टर कई तरह की दवाईयां देते हैं, जिससे पीरियड जल्दी आ जाता है। लेकिन इन दवाईयों का बहुत सारा दुष्प्रभाव भी होता है। जिससे बाद में गर्भाशय या शरीर में अन्य बीमारी उत्पन्न हो सकती है।

इसलिए आप अपने पीरियड को वापस लाने के लिए बहुत सारी घरेलू तरीके भी आजमा सकती है। इनसे कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है और पीरियड भी वापस आ जाता है। आज इस पोस्ट में मैं आपको रुका हुआ पीरियड कैसे आएगा इसका घरेलू उपाय बताऊँगी।

रुका हुआ पीरियड लाने के घरेलू उपाय से आपका पीरियड कम समय में पहले के जैसे नियमित रूप से आने लगेगा। और खासबात यह है की इसके लिए आपको कोई पैसे देने की भी जरूरत नहीं पड़ती है।

इसके अलावा यहाँ पर मैं आपको पीरियड्स के दौरान कौन-कौन सी सावधानियाँ बरतनी चाहिए ये भी बताऊँगी। तो आईये जानते है की रुके हुए पिरियड्स को वापस कैसे लायें

ये भी पढ़ें : पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल के फायदे और नुकसान

पीरियड्स रुकने के कारण

महिलाओं में माहवारी के समय पीरियड रुकने के कई सारी कारण हो सकते है। तो चलिए समझते हैं की किन वजहों से माहवारी नहीं आती है।

  • पाॅली सिस्टिक ओवेरियन बीमारी विशेष रूप से पीरियड रुकने के लिए जिम्मेदार है। यह एक ऐसी स्थिति है जब एण्ड्रोजन हार्मोन महिलाओं के शरीर के अंदर बनने लगते हैं। जिसके कारण उनके गर्भाशय के अंदर सिस्ट बनने लगते हैं। इस दौरान ओव्यूलेशन प्रक्रिया (मासिक धर्म में अंडा बनाने में होने वाली प्रक्रिया) रुक जाती है। जिसके वजह से मासिक धर्म में देरी हो जाती है।
  • एस्ट्रोजनऔर प्रोजेस्ट्रॉन हार्मोन का असंतुलित होना।
  • जिन महिलाओं को पीसीओडी की समस्या होती है उनका भी मासिक धर्म समय पर नहीं आता है।
  • गर्भाशय के अंदर फाइब्रॉएड(गर्भाशय के अंदर की बीमारी) का होना।
  • किसी बीमारी की वजह से लंबे समय से दवाई खाने की वजह से।
  • अधिक तनाव की वजह से।
  • खून की कमी की वजह से।
  • गर्भनिरोधक दवा (बर्थ कंट्रोल पिल) का लेना।
  • महिलायें जब गर्भवती होने वाली होती हैं तब भी पिरियड्स रुक जाता है।

पीरियड बंद होने के लक्षण

पीरियड आमतौर पर बिना किसी वजह के नहीं बंद नहीं होता है, इसलिए इसका कोई लक्षण नहीं होता है। लेकिन पीरियड जब प्राकृतिक रूप से एक उम्र के बाद ही हमेशा के लिए बंद होता है, तो कुछ लक्षण दिखाई देते हैं। इस बंद होने की प्रक्रिया को मेनोपाज कहते हैं। लेकिन यदि इससे पहले बंद हो जाये तो ये चिंता का विषय होता है। इसलिए इसको नजरअंदाज ना करें।

पीरियड जब प्राकृतिक रूप से बंद होने वाला होता है तो इसके भी कुछ लक्षण दिखाई देते हैं। जिससे की महिलायें घबरा जाती है। आईये जानते हैं किस तरह के लक्षण दिखाई देता है।

  • जननांग में संक्रमण होना
  • बेचैनी, गुस्सा और चिड़चिड़ाहट होना
  • ठीक से नींद ना आना
  • यूरिन में जलन होना
  • लेकिन ये सारी समस्यायें 40-45 की उम्र के बाद आती हैं।

ये भी पढ़ें : ब्रेस्ट बढ़ाने की दवा पतंजलि | सुडोल स्तन पाने के असरदार तरीके

रुका हुआ पीरियड लाने के लिए घरेलू उपाय

रुका हुआ पीरियड को लाने के कई सारे घरेलू उपाय जिनसे आप आसानी से पीरियड वापस ला सकती है। इसमें से कुछ उपाय मैं यहाँ नीचे बता रहीं हूँ, आप इनको आजमा सकती हैं।

1. रुके हुए पीरियड को वापस लाने में अजवाइन का प्रयोग

रुके हुए पीरियड को वापस लाने

अजवायीन गरम होती है जिसकी वजह से यह रुके हुए माहवारी को वापस लाने में बहुत कारगर होती है। यह ना सिर्फ माहवारी को नियमित करती है बल्कि इसके प्रयोग से मासिक धर्म में होने वाला दर्द भी कम होता है।

कैसे इस्तेमाल करें

  • एक चम्मच अजवाइन लें।
  • उसके साथ थोड़ा सा गुण लें।
  • और पानी के साथ निगल लें।
  • इसको दिन में केवल 1 बार ही लें।

2.कच्चा पपीता का प्रयोग

कच्चा पपीता का प्रयोग

कच्चा पपीता रुके हुए पीरियड को वापस लाने के लिए सबसे मशहूर उपाय है। यह उपाय बहुत ही अधिक कारगर है। इसलिए तो जब महिला माँ बनने वाली होती है तो उसको पपीता खाने के लिए मना किया जाता है। इससे गर्भपात हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करें

  • कच्चे पपीते को तोड़कर उसको छील कर नमक के साथ खा सकते हैं।
  • कच्चे पपीते का जूस भी निकाल कर सेवन कर सकते हैं।
  • यदि जूस पी रहे हैं तो दिन में सुबह-शाम दो बार इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • यदि कच्चा पपीता का सेवन छील कर खाने में कर रहें तो 1 दिन में एक ही पपीते का सेवन करें।

3.अदरक का प्रयोग

अदरक का प्रयोग

अदरक का इस्तेमाल भी बहुत फायदेमंद होता है पीरियड को वापस लाने के लिए। इसलिए जिन महिलाओं को इसकी समस्या है वो अदरक का इस्तेमाल कर सकती है।

कैसे इस्तेमाल करें

  • थोड़ा स अदरक लेकर उसको कूट लें।
  • इसके बाद पानी उबालें।
  • उसमें अदरक को डाल दें।
  • अच्छे से उबलने के बाद एक कप पी लें।
  • दिन में 2,3 बार इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अदरक को चाय की तरह यानि की पानी में गुण डालकर भी पी सकती हैं।

4.धनिया का इस्तेमाल

धनिया का इस्तेमाल

धनिया भी मासिक धर्म के लिए बहुत ही कारगर माना जाता है। धनिया भी गरम होती है जिससे पीरियड में बहुत फायदा होता है। इसमें धनियाँ के बीज का इस्तेमाल किया जाता है।

  • दो चम्मच धनियाँ के बीज को एक कप पानी डालकर उबाल लें।
  • इस उबले पानी में गुण डालकर पी सकते हैं।
  • इसके अलावा धनियाँ के बीज को पीसकर पाउडर बना कर भी पानी के साथ लें सकते हैं।
  • इसका सेवन दिन में केवल 2 बार ही करें।

पीरियड्स के दौरान बरतें ये सावधानियाँ

जब महिलाओं या लड़कियों को मासिक धर्म शुरू होता है तो 4,5 दिन तक बहुत सारा खून निकलता है। जिसकी वजह इन दिनों महिलायें काफी कमजोर महसूस करती हैं। इसलिए इन दिनों महिलाओं को बहुत ध्यान रखने की आवश्यकता होती है।

  • इन दिनों महिलाओं के अंदर बहुत चिड़चिड़ाहट आ जाती है, इसलिए दिमाग को शांत रखना चाहिए।
  • मासिक धर्म के समय कोई भी भारी सामान नहीं उठाना चाहिए। क्योंकि इन दिनों शरीर में कई तरह की हार्मोन सक्रिय होते हैं। जिससे शरीर की नालियाँ खुली होती भारी सामान उठाने से गर्भाशय में कोई बीमारी हो सकती है।
  • इस दौरान महिलाओं को अधिक भाग दौड़ नहीं करना चाहिए। अधिक से अधिक आराम करना चाहिए।
  • पीरियड में साफ कपड़े का इस्तेमाल करें या तो पीरियड पैड का इस्तेमाल करें।
  • गंदे कपड़े का इस्तेमाल बिल्कुल ना करें वरना संक्रमण हो सकता है।
  • इस दौरान नहाने के लिए गरम पानी का इस्तेमाल करें। दर्द में आराम मिलेगा।

 

संबंधित प्रश्न

पीरियड बंद हो जाए तो क्या करना चाहिए?

पीरियड बंद हो जाये तो अजवाइन को गरम पानी में उबाल कर सुबह-शाम एक कप पिए। इससे पीरियड आने लगता है। इसके साथ-साथ धनियाँ का भी इस्तेमाल किया जाता है। धनियाँ को गरम पानी के साथ ले सकते हैं। इससे पिरीयड तो ठीक होता ही है साथ ही साथ पीरियड के समय होने वाले दर्द में भी आराम मिलता है।

पीरियड्स रुकने का क्या कारण है?

पीरियड्स रुकने के बहुत सारे वजह हो सकते हैं। चलिए देखते हैं पीरियड्स किन कारणों से रुक जाती है।
1. पेट या गर्भ संबधित किसी भी बीमारी की वजह से
2. शरीर में खून के कमी की वजह से भी पीरियड ठीक से नहीं आता है।
3. लंबे समय से गर्भ निरोधक दवाईयां लेने की वजह से भी पीरियड नहीं आता है।

माहवारी कब तक आती है?

मासिक धर्म महिलाओं में लगभग 50 साल तक आता है। इसके बाद बंद होता है। लेकिन यह समय निश्चित नहीं। कई महिलाओं में 40-45 साल में ही बंद हो जाता है और किसी-किसी महिला में 50 साल से भी ऊपर समय तक लगता है।

निष्कर्ष

पीरियड के रुकने का कई कारण हो सकते हैं। जिसमें सफेद पानी आना, तनाव होना, खून की कमी होना आदि वजह हो सकती है। इसलिए पीरियड के रुकने पर घबराना नहीं चाहिए। इस पोस्ट में मैंने रुका हुआ पीरियड कैसे आएगा बताया है पीरियड रुकने की क्या वजह हो सकती है।

पढ़ें : जानिये कितनी असरदार है पतंजलि गैस की दवा

पीरियड रुकने पर आप कुछ घरेलू उपाय का इस्तेमाल करके उसको वापस ला सकतीं हैं। यहाँ मैंने कई सारे घरेलू उपाय बताएं है जिनका इस्तेमाल करके आप कर सकती है। ये सारे घरेलू उपाय आपके लिए बहुत ही कारगर साबित होंगे।

उम्मीद है की इस पोस्ट में बताएं गए सारे उपाय आपके लिए कारगर साबित होंगे। यदि इस पोस्ट से संबंधित आपको कोई सवाल हो तो आप मुझे कमेन्ट करके पूछ सकती हैं।

Leave a Comment