स्वास्थ्य सलाह

पेशाब में जलन होने पर क्या खाना चाहिए – आयुर्वेदिक दवाएं

कई लोगों को पेशाब करते समय जलन होती है। इस बीमारी में बार-बार पेशाब जाना पड़ता है और साथ-साथ जलन होता है। जब आपको पेशाब करते वक़्त दर्द या जलन का एहसास होता है तो उसको चिकित्सक के शब्दों में डिस्युरिआ कहते हैं। 

पेशाब में जलन आम बात होती है, लेकिन कई बार पेशाब में जलन होना कोई बड़ी समस्या का संकेत भी हो सकता है। यह कई कारणों की वजह से हो सकता है परन्तु इस लक्षण को नज़रअंदाज़ करना सही नहीं होता |

peshab me jalan

ऐसी समस्याओं में पेशाब करते समय मूत्र मार्ग में जलन के साथ-साथ दर्द भी होता है। पेशाब में जलन होना केवल पेशाब संबंधित बीमारी नहीं है, बल्कि यह मूत्र-मार्ग, किडनी जैसे अंगों मूत्रवाहिनी, मूत्राशय और मूत्रमार्ग से संबंधित होता है। इस बीमारी को यू टी आई (UTI) कहते हैं। 

पेशाब में जलन महिलाओं और पुरुषों दोनों में होता है, लेकिन पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं को पेशाब में जलन की समस्या अधिक होती है। यह पुरुषों और महिलाओं दोनों के जननांग की लंबाई में अंतर की वजह से होता है। 

पेशाब में जलन या मूत्र-मार्ग में जलन कई वजहों से होता है। यह गलत खान-पान या अक्सर शरीर में पानी की कमी होने पर होता है। इसलिए इस तरह की समस्या होने पर आपको अपने खान-पान पर सबसे अधिक ध्यान रखना चाहिए। 

यदि आप भी ऐसी समस्या से परेशान हैं तो इस पोस्ट को पूरा पढ़िये, यहाँ मैं पेशाब में जलन के कारण और यूरिन में जलन के घरेलू उपाय भी बताऊँगी। 

ये भी पढ़ें: 1 महीने में 10 किलो वजन कैसे बढ़ायें? जानें सुडोल शरीर पाने के तरीके

 पेशाब में जलन होने पर क्या खाना चाहिए – आयुर्वेदिक दवाएं 

पेशाब में जलन होने की समस्या होने पर आप आयुर्वेदिक दवाएं का भी सेवन कर सकते है। जो पेशाब में जलन से आपको छुटकारा पाने में काफी मदद करता है। 

ImageProductDetailPrice
Jain Shilajit Asphaltum 

Jain Shilajit Asphaltum 

  • 60 टैबलेट
  • ₹249.00
Price
Himalaya wellness Gokshura 

Himalaya wellness Gokshura 

  • 60 टैबलेट
  • र179.00
Price
AarVed Punarnava  Powder

AarVed Punarnava  Powder

  • ₹299.00
  • 150gms
Price
BSD Organics HerbY 

BSD Organics HerbY 

  • ₹819.00 
  • 800 ग्राम
Price
Chandan (Santalum Album)

Chandan (Santalum Album)

  • ₹950.00
  • 100 GM
Price

मूत्र मार्ग में संक्रमण (UTI) क्या होता है?

मूत्र-मार्ग में जलन होने पर पेशाब करने में व्यक्ति को जलन होती है। इस बीमारी को यू टी आई (UTI) भी कहते हैं। 

यू टी आई की समस्या तब होती हैं जब मूत्राशय और इसकी नली के अंदर बैक्टीरिया की वजह से संक्रमण फैल जाता है। 

यह समस्या कई वजहों से हो सकती है जैसे की अधिक सेक्स करने की वजह से, लंबे समय तक पेशाब को रोक कर रखने की वजह से, पीरियड के दौरान संक्रमण होने पर भी पेशाब की समस्या हो जाती है। 

यह समस्या पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में सबसे अधिक होती है। यह संक्रमण कभी भी किसी भी उम्र में हो सकता है। मूत्र मार्ग संक्रमण मूत्र तंत्र के किसी भी हिस्से में हो सकता है।  जैसे की- मूत्राशय के भीतर, मूत्रमार्ग के रास्ते में, गुर्दा (किडनी) का संक्रमण।

ये भी पढ़ें : शतावरी के अद्भुत फायदे पुरुषों में सेक्स क्षमता को बढ़ाता है|

पेशाब में जलन होने के क्या कारण हैं ?

वैसे तो पेशाब में जलन ई-कोलाई बैक्टीरिया के कारण होता है। लेकिन इसके अलावा भी कई कारणों से यह बीमारी होती है। तो चलिए जानते हैं की पेशाब में जलन होने का क्या कारण है। 

  • विशेष रूप से यू टी आई (UTI) की समस्या बार-बार संभोग करने या तीव्र गति से और अलग-अलग लोगों के साथ बिना सुरक्षा के करने से होता है। 
  • शुगर के रोगियों में पेशाब की समस्या होने की खतरा सबसे अधिक होता है। 
  • बहुत अधिक तेल-मसलों का सेवन करना। 
  • पानी बहुत कम पीना। 
  • पेशाब बहुत देर तक रोक कर रखना। 
  • दस्त होने की वजह से। 
  • मूत्र में बाँधा उत्पन्न करना। 
  • गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल करने की वजह से। 
  • शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम होने की वजह से। 
  • प्रतिरोधी दवाओ का अधिक सेवन करना। 
  • मूत्र मार्ग में संक्रमण होने की वजह। 

मूत्र मार्ग में संक्रमण होने के कारण

मूत्रमार्ग में संक्रमण के कई कारण हो सकता है। जैसे-

  • स्त्रियों में मूत्र-नलिका बहुत छोटी होने की वजह से उनके मूत्र-मार्ग में संक्रमण जल्दी होता है। 
  • मधुमेह में खून और पेशाब में शर्करा की मात्रा अधिक होने की वजह से। 
  • जो महिलायें मासिक धर्म के दौरान या संभोग में अधिक सक्रिय नहीं होती उन्हे यह संक्रमण हो सकता है। 
  • संभोग करते समय कोंडोम का इस्तेमाल ना करना भी संक्रमण का कारण होता है। 
  • क्षार-युक्त या गंदे पानी और शौचालय का इस्तेमाल करना। 
  • प्रोस्टेट ग्रंथि बढ़ जाने के कारण पुरुषों के अंदर यह संक्रमण होता है। 

 मूत्र मार्ग में संक्रमण से कैसे बचें?

मूत्र मार्ग में संक्रमण से बचने के लिए आपको बहुत सावधानी बरतनी चाहिए। संक्रमण से बचाव के लिए आप निम्न उपायों को आजमा सकते हैं।

  • 3-4 लीटर पानी और तरल पदार्थ प्रतिदिन पियें। 
  • हर 3-4 घंटे में पेशाब जरूर करें। 
  • पेशाब लगने पर, पेशाब रोके नहीं। पेशाब को रोक-कर रखने से बैक्टीरिया से संक्रमण फैलने का खतरा अधिक हो जाता है। 
  • विटामिन सी या क्रैनबेरी रसयुक्त भोजन का उपयोग करें। यह पेशाब को अम्लीय बनाता है, जिससे जीवाणु उत्पन्न नहीं होते हैं। 
  • संभोग से पहले या बाद में जननांग वाले भाग को अच्छे से साफ करें। 
  • पेशाब करने के बाद पानी से जरूर धुलें। 
  • साफ-सुथरे शौचालय का इस्तेमाल करें। 
  • संभोग करते समय कोंडोम का इस्तेमाल अवश्य करें। 
  • कब्ज से बचें। 

पेशाब में जलन के घरेलु उपाय

बार-बार पेशाब आना और जलन होना आम बात है। इस समस्या को आप कुछ घरेलू उपायों की मदद से ठीक कर सकते हैं। 

इलायची का उपयोग

इलायची के अंदर मूत्रवर्धक गुण पायें जाते हैं, जो पेशाब में जलन और मूत्रमार्ग में संक्रमण की समस्या को दूर करता है। इसलिए एक गिलाश गुनगुने दूध में इलायची डालकर रोजाना इसका सेवन करें। इससे आपको पेशाब के जलन से आराम मिलेगा। 

विटामिन सी (नींबू ) का उपयोग

विटामिन सी या क्रैनबेरी रसयुक्त भोजन का उपयोग करें। यह पेशाब को अम्लीय बनाता है, जिससे जीवाणु उत्पन्न नहीं होते हैं। सुबह गुनगुने पानी में नींबू डालकर पियें।

लौंग का तेल

लौंग के तेल में प्रतिरोधक क्षमता होता है। इसलिए संक्रमण होने पर लौंग के तेल को जननांग वाले भाग के आस पास लगायें। इसको जननांग के अंदर ना लगायें। और लगाने से पहले डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

पेशाब में जलन होने पर क्या खाना चाहिए?

60837524 m 1024x658 1

पेशाब में जलन होने की समस्या होने पर आपको अपने खान-पान का सबसे अधिक ध्यान रखना चाहिए। ऐसे में पेशाब में जलन होने पर आपको क्या खाना चाहिए इसकी जानकारी मैं आपको नीचे दे रहीं हूँ।

क्रैनबेरी 

पेशाब में जलन के सबसे प्रभावी कारण है मूत्र मार्ग में संक्रमण होना। एनसीबीआई की वेबसाईट पर प्रकाशित शोध में यह बताया गया है की – क्रैनबेरी यानि की करौंदा के अंदर प्रोएन्थ्रोसायानिडीन-ए (Proanthocyanidin-A) कंपाउंड मौजूद होता है, जो ना सिर्फ पेशाब में जलन में रहता देता है, बल्कि यह मूत्र-मार्ग में फैले संक्रमण को भी दूर करता है। इसलिए आप इसका जूस बनाकर पी सकते हैं। 

प्रोबायोटिक रिच फूड्स

पेशाब में जलन होने पर ठंडे और प्रोबायोटिक से भरपूर पदार्थ खाना बहुत लाभकारी होता है। इसलिए ऐसे में दही खाना सबसे लाभकारी होता है क्योंकि दही प्रोबायोटिक का ससबे अच्छा स्रोत है। यह मूत्र मार्ग में संक्रमण से बचाता है। 

खूब पानी पिएं

जब शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो पेशाब करते समय जलन होता है। और पेशाब का रंग भी पीला हो जाता है। पानी कम पीने वाले व्यक्तियों को यू टी आई की समस्या सबसे अधिक होती है। इसलिए ऐसे मे अधिक से अधिक पानी का सेवन सबसे अधिक लाभकरी होता है। 

विटामिन सी फूड्स

विटामिन सी के अंदर जैविक गुण होते हैं जो ऐसे संक्रमणो से लड़ने में मदद करता है। इसलिए विटामिन सी से भरपूर फल जैसे नींबू और आवलां का सेवन करें। इसके अलावा विटामिन सी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। 

ताजे फल और सब्जियां

ऐसी समस्या होने पर मसालेदार भोजन नहीं करना चाहिए। इसलिए हरी सब्जियाँ जैसे पालक, धनियाँ और खीरा आदि खायें। इसके अलावा आप पालक का जूस भी बनाकर पी सकती हैं। 

सम्बंधित सवाल 

 पेशाब में जलन को कैसे दूर करें?

पेशाब में जलन को दूर करने के लिए खूब पानी पिए। खूब पानी पीने से पेशाब साफ होगा और जलन कम हो जाएगी। इसके अलावा नींबू और पुदीना का जूस बनाकर पिये। ये दोनों पेशाब के जलन को कम करते हैं। इसके साथ-साथ यह पेशाब के संक्रमण से भी बचाता है।

 यूरिन इन्फेक्शन की टेबलेट कौन सी है?

एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट एक एंटीबायोटिक है जिसका इस्तेमाल मूत्रमार्ग के इन्फेक्शन के इलाज और रोकथाम के लिए किया जाता है। 
यह टेबलेट मूत्र मार्ग के दर्द को कम करता, जलन, परेशानी, और बेचैनी के साथ-साथ बार-बार पेशाब आने और पेशाब करने की तीव्र इच्छा आदि से भी आराम दिलाता है।

जलन होने पर क्या करना चाहिए?

पेशाब में जलन होने पर आपको निम्नलिखित इलाज करना चाहिए। 
3-4 लीटर पानी पियें। 
अनार का जूस का सेवन करें। 
विटामिन सी युक्त भोजन का इस्तेमाल करें। 
नींबू और पुदीना के जूस का सेवन करें।  
सौंफ को दूध के अंदर डालकर पियें। 

जलन क्यों होती है?

पेशाब करते समय दर्द और जलन होने के कई कारण हो सकते हैं।  जैसे कि- 
मूत्रमार्ग में संक्रमण (यूटीआई) की कारण से।  
किसी दवा के सेवन के कारण (जैसे कीमोथेरेपी की दवा) का इस्तेमाल से।  
ओवरी में सिस्‍ट या गुर्दे में पथरी होने की वजह से।  
योनि में संक्रमण के कारण। 
यौन रूप से संक्रामित संक्रमण।  
पेल्विक हिस्‍से में रेडिएशन थेरेपी लेने के वजह से। 
यूरीनरी कैथेटर।

 निष्कर्ष 

पेशाब करते समय जलन होना या मूत्र-मार्ग में संक्रमण होना आम समस्या है। यह किसी भी व्यक्ति हो कभी भी हो सकता है। इस बीमारी में जब व्यक्ति पेशाब करता है तो उसको जलन महसूस होता है। और पेशाब का रंग भी पीला हो जाता है। 

यह बीमारी आमतौर पर कम पानी पीने वाली व्यक्तियों में बहुत अधिक होता है। यह समस्या बहुत अधिक लपवाही और गंदगी की वजह से होता है। जिससे मूत्रमार्ग में संक्रमण हो जाता है और इसमें पेशाब करते समय जलन के साथ दर्द भी होता है। 

जलन की समस्या होने पर काफी लोगों को समझ नहीं आता है की उन्हे किस तरह का भोजन करना चाहिए। और कौन के उपचार करें जिससे की जल्द से जल्द इस समस्या से छुटकारा मिल जाये। 

इसलिए इस पोस्ट में मैंने पेशाब में जलन होने की समस्या के कारण और यूरिन में जलन के घरेलू उपाय बताएं। जिनका इस्तेमाल करके आप बार-बार पेशाब आना और जलन होना की समस्या से छुटकारा पाने में कर सकते हैं। 

पेशाब में जलन की होम्योपैथिक दवा और पेशाब में जलन की आयुर्वेदिक दवा का भी इस्तेमाल कर सकते है। 

Leave a Comment