जानिये कितनी असरदार है पतंजलि गैस की दवा?

यूं तो बाज़ार में आपको गैस को दवा बहुत सी मिल जाएगी,पर मन में ख्याल यह आता है , कि कौन सी गैस की दवा शरीर को ठीक भी रखे और साथ ही गैस से छुटकारा भी दे। 

तो आज हम आपको बताएंगे कि पतंजलि गैस की दवा कितनी असरदार है ,जिससे आपको और किसी गैस की दवा के लिए नहीं सोचना पड़ेगा ।

पतंजलि गैस की दवा यह तो आपको पता ही चल रहा होगा , कि यह पतंजलि का प्रोडक्ट है ,तो ज़रूर आयुर्वेदिक होगा । जी हां, पतंजलि एक आयुर्वेदिक संस्थान है ।जो अपने प्रोडक्ट पूरी तरह से प्राकृतिक चीजों से बनाती है। इसकी दवाएं काफी असरदार होती हैं और अनेक रोगों और परेशानियों, जैसे दाद से मुक्ति दिलाती है।  

gastroentrology

ऐसे ही गैस की दवा भी है ,जो आपके आंत्र गैस , कब्ज़ , पेट फूलना , पेट गैस ,उच्च रक्तचाप आदि उपचारों के लिए बनाई गई है ।जो इतनी असरदार है , कि गैस के साथ आपके पेट से जुड़े अन्य रोगों को भी ठीक करती है ।

तो चलिए हम आपको इस दवा के बारे में और विस्तार से बताएंगे ।जिससे आपको इस दवा को खरीदने में कोई परेशानी नहीं होगी। 

क्या होता है पेट का गैस 

पेट गैस एक समस्या है जो बिना पचे हुए खाद्य पदार्थों का न निकलना, लेक्टोज न पचा पाना और कुछ खाद्य पदार्थों का कुअवशोषण (malabsorption) होना। ज्यादातर गैस खाद्य पदार्थों में माइक्रोबियल ब्रेकडाउन (microbial breakdown) से होती है, उदाहरण के लिए हाइड्रोजन (hydrogen), कार्बन डाइऑक्साइड और मीथेन जैसे गैस बनने लगती हैं।

कैसे होती है पेट के गैस की समस्या?

यह तब होता है ,जब  ज़्यादा खट्टा, तीखा, मसाले वाला खाना खाने से, देर रात तक जागने से , पानी कम पीना, बहुत देर तक एक ही जगह बैठे रहने आदि से गैस बनने लगती है, इसके अलावा कुछ खानपान व तली चीजों से, कुछ दाल व सब्जियों से भी ऐसा होता  है जो गैस बनाता  है। ज्यादा चाय पीने और चाय के साथ कुछ न खाने से  भी गैस बनती है।

पेट के गैस के लक्षण क्या हैं ?

stomach ache and gas

पेट  गैस का  लक्षण पेट दर्द को माना जाता है , परंतु पेट दर्द के अलावा भी  कई गैस के लक्षण होते है  –

  • सुबह पेट साफ ना होना  और पेट फूला हुआ प्रतीत होना 
  • पेट में ऐंठन और हल्के-हल्के दर्द का आभास होना।
  • चुभन के साथ दर्द होना तथा कभी-कभी उल्टी होना।
  • सिर में दर्द रहना भी इसका एक मुख्य लक्षण हैं।
  • पूरे दिन आलस  जैसा महसूस होना ।
  • मुंह में खाने की डकार आना ।

गैस की दवा 

सिमेथिकोन गैस की अंग्रेजी दवा है,जिससे गैस से राहत मिलती है। सिमेथिकोन (Simethicone) का उपयोग  गैस्ट्रिक सूजन, पेट दर्द और पाचन तंत्र से दबाव पेट फूलने और गैस से राहत देने के लिए किया जाता है। यह गैस के बुलबुले को तोड़ने में मदद करता है, जिससे इसे खत्म करना आसान हो जाता है और इस तरह यह एंटी-फ्लैटुलेंस गुण देता है,जिससे गैस की समस्या से राहत मिलती है । इसकी एक गोली 500 mg की होती है । इस दवा को डॉक्टर से पूछ कर लें ,जब आपको ज्यादा जरूरत हो । 

इसके इलावा पतंजलि गैस की दवा जो की आयुर्वेदिक जड़ीबूटियों से बनी है, वह भी काफी असरदार है। ऐसे ही कई दवाइयां हैं, अंग्रेज़ी और आयुर्वेदिक, जिनके इस्तेमाल से आप पेट के गैस से तुरंत मुक्ति मिल सकती है।  आइये जानते हैं इनके बारे में। 

पतंजलि गैस की दवा- Patanjali Divya गशर चूर्ना 100gms

Average rating- 4.3/5

Patanjali Divya गशर चूर्ना

Gashar_Churna
  • Best for indigestion, gas, and digestion problems
  • Pack of 3
  • 300 grams
  • MRP- ₹252

पतंजलि गैस का चूर्ण एंटी एसिड गुणों के साथ हर्बल पाउडर का एक कॉम्बिनेशन है. यह एसिडिटी के साथ  गैस की समस्या से आराम देता  है. दिव्या गशर चूर्ण आपके पाचन तंत्र को मजबूत करता है और साथ ही  भूख को बढ़ाता है।

अब आपको गैस की समस्या को ज्यादा झेलने की जरूरत नहीं है ,यह चूर्ण आपको गैस से तुरन्त राहत देगा। Patanjali Divya गशर चूर्ना काफी लाभकारी है इसमें सारे आयुर्वेदिक सामग्री का प्रयोग किया गया है।

इंग्रेडिएंट्स 

Herbs and Ayurveda cure stomach gas

Ajwain  – अजवाइन एक तरह का  बीज होता है ,जिसका प्रयोग खाने में किया जाता है । अजवाइन  में थाइमोल पाया जाता है, जो अपच को दूर करता है। एसिडिटी से बचने के लिए अजवाइन लाभकारी होता है। 

Kali Mirch   – काली मिर्च काले दाने जैसा दिखता है ,जिसका प्रयोग गैस की दवा में किया जाता है ।इससे पेट दर्द भी ठीक होता है इसका इस्तेमाल खांसी जुखाम  में भी किया जाता है।

Kala Namak -यह एक तरह का पत्थर होता है ,जिसे पीसकर चूर्ण की तरह बनाया जाता है ,यह गैस की समस्या को ठीक करता है । 

Choti Harad यह आयुर्वेदिक है ,जो बवासीर ,कब्ज,गैस की समस्या को ठीक करता है ।इसे चूर्ण के रूप में इस्तेमाल करते है ।

Meetha Soda –यह सफेद पाउडर जैसा होता है ,इसका इस्तेमाल खाने की चीजों में किया जाता है ।पेट में अधिक एसिड  या पेट में एसिडिटी के कारण जलन होने के कारण   बेकिंग सोडा उपयोगी है  यह इन सब को  कम करता है ।

Nausadar –यह एक तरह का सफेद दानेदार पाउडर होता है ,जो पेट के रोग, जलन  – पाचन, प्लीहा रोग, सूजन एवं दांतों की समस्या के लिए  उपयोगी औषधि है ।

Heeng (Shudh) –हींग एक तरह का दरदरे चूर्ण जैसा होता है ,जो शरीर के कई रोगों को ठीक करने में इस्तेमाल किया जाता है ।यह गैस की समस्या व गैस की दवा में इस्तेमाल किया जाता है। 

Nimbu Satva – यह एक तरह से नींबू से बनाया जाता है ,जो सफेद रंग का होता है ।यह एसिडिटी या गैस्ट्रिक प्रॉब्लम में पेट को बहुत आराम दिलाता है। और पेट के  बहुत से  इन्फेक्शन से भी बचाता है। नींबू में विटामिन सी और एस्कॉर्बिक एसिड होता है, जिससे पेट ठीक रहता है। इसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी तत्व होते हैं, जो पेट में मौजूद बैक्टीरिया से लड़ते हैं और सर्दियों में खांसी-जुकाम से बचाते हैं।

Jeera –जीरा एक तरह का मसाला है ,जिसका प्रयोग आयुर्वेदिक औषधियों में इस्तेमाल किया जाता है यह कई बीमारियों को भी ठीक करता है ।यह गैस की समस्या  को ठीक करता है और इससे ब्लड प्रेशर भी सही रहता है ।

कैसे करें इस्तेमाल 

इस दवा को  दिन में दो बार एक चम्मच लेकर  गैस की समस्या  होने पर  उपयोग  करें। इस दवा को खाना खाने के बाद इस्तेमाल करें । गैस की दवा को नियमित रूप से खाए तो आपकी गैस की समस्या जल्द ही ख़त्म होती है ।

फायदे और नुकसान 

फायदा

  • यह चूर्ण पाचन शक्ति के लिए अच्छा  है, और गैस को बाहर निकालता है। 
  • अपच, कब्ज, अफारा आदि में उपयोगी है। यह प्राकृतिक रूप से पाचन शक्ति को बढ़ाता है। साथ ही यह एंटासिड भी है ,एसिडिटी को दूर करने में भी सहायक है। इसमें भूख बढ़ाने के गुण भी है। यह पाचन शक्ति को मजबूत बनाता है।
  • पेट में ज्यादा गैस बनने पर पेट में काफी भारीपन महसूस होता है, अगर  ढंग से खाना पीना नहीं करते है। ज्यादा गैस शरीर के अन्य अंगों जैसे हृदय आदि पर भी अनावश्यक दबाव बनाती है। 
  • यह दिव्य गैसहर चूर्ण ज्यादा गैस बनने की प्रक्रिया को नियंत्रित करता है और पेट में जमा ज्यादा गैस अपान वायु के रूप में बाहर निकालता है।

नुकसान

  • यह चूर्ण जड़ी बूटियों से बना है ,इसका अब तक कोई साइड इफेक्ट नहीं मिला है ।पर अगर अधिक मात्रा में इस दवा का सेवन करते है, तो यह आपको हानि पहुंचा सकता है ।इस दवा का सेवन भी डॉक्टर से सलाह लेकर ही करे। 

गैस की दवा का नाम आयुर्वेदिक

ImageProductDetailPrice
<strong>Gasoherb</strong>

Gasoherb

  • गैस की समस्या को ठीक करता है। यह पेट में जलन और दर्द को ठीक करता है ।
  • Effectiveness– 2 months 
  • Pack of 2- 60 capsules
  • Price– ₹272
Add to Cart
Devdarvyadi Kashay

Devdarvyadi Kashay

  • यह दवा अस्थमा, सिरदर्द के लिए लाभकारी है। यह दवा गैस से भी राहत देता है ।
  • Effectiveness– 2-3months
  • Price– ₹88
Add to cart
Amlapitta vati

Amlapitta vati

  • Benefits– गैस्ट्रिक रस के स्राव को विनियमित करने में मदद करता है ये क्रियाएँ अम्लता और संबंधित लक्षणों को प्रभावी ढंग से कम करती हैं जैसे ईर्ष्या, गैसों, सूजन, पेट में दर्द, और अपच।
  • Effectiveness– 2 months
  • Pack of 3- 60 tablets
  • Price– ₹380
Add to Cart
Triphala

Triphala

  • Benefits– यह खाने को पचाने में मदद करता है और साथ ही गैस की समस्या से राहत देता है यह कब्ज, अम्लता, पेट फूलने, सूजन आदि राहत देता है ।
  • Effectiveness– 2 months
  • Price– ₹157
Add to Cart
Herbicid capsule

Herbicid capsule

  • Benefits– हाइपर एसिडिटी विकारों जैसे जीईआरडी, दिल की जलन, एसिड रिफ्लक्स और गैस्ट्राइटिस से राहत दिला सकती है।
  • यह प्राकृतिक एंटी एसिड दवा स्वस्थ पाचन और अग्नि को मजबूत करके काम करती है।
  • यह सप्लीमेंट हर्बल अर्क के मिश्रण के साथ बनाया जाता है जो पाचन को बढ़ाने, पोषक तत्वों के अवशोषण में सुधार करने और अम्लता के जोखिम को कम करने में सिद्ध हुआ है।
  • Effectiveness– Minimum 3 months
  • Pack of 2
  • Price– ₹ 374
Add to Cart

डॉक्टर से कब मिले? 

जब आपको गैस की समस्या ज्यादा हो और ठीक न हो, तब  आप   घरेलू व अन्य  दवा से भी आराम न मिले तब आप डॉक्टर से मिले ।

FAQ 

पेट की गैस को जड़ से कैसे खत्म करें?

अगर आपको जड़ से गैस की समस्या को ठीक करना चाहते है, तो घरेलू उपाय सबसे बेहतर है । 

इसके लिए आपको एक  गिलास गुनगुना पानी ले, अब इसमें आधा निम्बू निचोड़े और इस पानी में थोड़ा सा काला  नमक मिलाये और अगर आपके पास खाने वाला मीठा सोडा है तो थोड़ा सा इसे भी मिला ले। अब इस पानी को अच्छे से घोलकर पी ले आपको गैस से तुरंत आराम मिल जायेगा ।

गैस का रामबाण इलाज क्या है?

जीरा पानी गैस्ट्रिक या गैस की समस्या का सबसे अच्छा घरेलू उपचार  व इलाज है ।जीरा में तेल होता  है, जो लार ग्रंथियों को उत्तेजित करता हैं।इससे भोजन ठीक तरह से पचता है। यह पेट में अंदर  गैस के निर्माण को भी रोकता है,और इस रामबाण को  बनाने के लिए  एक चम्मच जीरा लें और इसे दो कप पानी में 10-15 मिनट के लिए उबालें।अब इसे ठंडा होने दें, और भोजन के बाद इसे पिएं। इसे रोजाना करने से गैस की समस्या खत्म  हो जाती है ।

गैस की गोली कौन सी है?

 नो गैस 150mg टैबलेट यह पतंजलि द्वारा निर्मित है, यह हिस्टामाइन 2 एंटागोनिस्ट नामक दवाओं  से बनी है।यह आपके पेट में एसिड को कम  करता है और सीने में जलन और अपच से जुड़े दर्द से राहत देता भी देता है ।दवा का सेवन डॉक्टर से पूछ कर ही करे।

कब्ज गैस एसिडिटी की दवा?

हरिहर  टेबलेट 100% आयुर्वेदिक दवा है जिसमें 16 शुद्ध जड़ी बूटियां हैं ,जो कब्ज के कारण पुरानी कब्ज, गैस, एसिडिटी, सिरदर्द का इलाज  करने में मदद करती हैं, यह, अपच, मुंह अल्सर, शारीरिक सुस्ती, प्रतिरक्षा में सुधार करता है, और ठीक करने में मदद करता है ।साथ ही अपनी एलर्जी का भी ध्यान रखें तभी इस दवा का सेवन करें।

आखरी शब्द

 पतंजलि गैस की दवा बहुत ही असरदार है ,यह आपके पाचन कार्य को सही रखता है ।साथ ही गैस से होने वाले समस्या का समाधान भी मिलता है ।इस गैस से बचने के लिए अपने खानपान पर भी ध्यान देने से गैस की समस्या से राहत मिलती है। घरेलू व आयुर्वेदिक नुस्खे गैस के लिए बहुत ही बढ़िया है।

इसके न कोई साइड इफेक्ट होते है ,और आपको एसिडिटी से भी राहत देता है।पतंजलि गैस की दवा पूरी तरह से आयुर्वेदिक है ,जो आपके गैस से जुड़ी समस्या को ठीक करती है ।तो इस दवा का एक बार अपने गैस के रोग के लिए जरूर इस्तेमाल करें।जिससे आपको इस दवा का लाभ साथ ही गैस से छुटकारा मिलेगा।

पतंजलि गैस की दवा एक ऐसा प्रोडक्ट है ,जिससे आपको कोई भी हानि नहीं होगी। इस प्रोडक्ट की हर सामग्री पूरी तरह से गैस के उपचार के लिए है। तो जरूर इस प्रोडक्ट को खरीदे और एसिडिटी से समाधान पाए।

Leave a Comment