Blog स्वास्थ्य सलाह

जानिये केवल 2 मिनट में नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे किया जाता है।

नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट

” माँ ” बनना हर महिला का सपना होता है और जब कभी मासिक धर्म रुक जाता है तो दिमाग में घंटी बजती है की कही मासिक धर्म का रुकना गर्भ धारण करने का संकेत तो नहीं है। ऐसे में महिलाये तुरंत जांच करवाने की सोचने लगती हैं। बाजार में बहुत सारे किट भी आते हैं जिससे कुछ ही मिनटों में प्रेगनेंसी टेस्ट किया जा सकता है

लेकिन यदि कोई महिला पहली बार गर्भधारण कर रही हो तो उसको ये किट खरीदने में बहुत हिचकिचाहट होती है। और ये भी डर रहता है की पता नहीं परिणाम निगेटिवे आएगा या पाज़िटिव। तो फिर प्रेगनेंसी जांच कैसे किया जाये?

क्या आप जानती हैं की आप घर पर भी प्रेगनेंसी जाँच किया जा सकता है? इसके लिए आपको दवाईयों के दुकान पर जाकर प्रेगनेंसी किट खरीदने की भी आवश्यकता नहीं है। अब आप सोच रही होंगी की घर पर गर्भावस्था की जाँच कैसे करें ?

तो मैं आपको बता दूँ घर पर नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट किया जा सकता है। नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट करना बहुत ही आसान घरेलू उपाय है। आप मेरे इस लेख को पूरा पढ़िये क्योंकि आज के इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊँगी कि नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे किया जाता है।

और इस जाँच के परिणाम को आप किस प्रकार देख सकती हैं। आपको ये भी बताऊँगी की नींबू से गर्भवस्था की जाँच का परिणाम कितना सही होता है।

यह घरेलू उपाय उन महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद होगा है जो गर्भावस्था के लक्षणों जैसे उल्टी या मतली के कारण घर पर गर्भावस्था परीक्षण करना चाहती हैं। तो आइये गर्भावस्था जाँच करने के घरेलू तरीके को अच्छे से जानते हैं।

पढ़ें: शीघ्रपतन का रामबाण इलाज – #1 शीघ्रपतन का आयुर्वेदिक इलाज

नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट क्या होता है?

नींबू से गर्भवस्था की जाँच करना एक ऐसा घरेलू उपाय है जिसका इस्तेमाल करके मां बनने की चाहत रखने वाली महिलाएं घर पर ही प्रेगनेंसी से जुड़ी जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकती हैं।

यह बहुत ही आसान तरीका है जिसकी मदद से महिलायें डॉक्टर के पास जाए बिना यह पता लगा लेती है की वे गर्भधारण करने में सक्षम हों गयी हैं या नहीं। हालंकि यह परीक्षण कितना सटीक है इसका वैज्ञानिक रूप से कोई जानकारी नहीं है।

लेकिन फिर भी महिलाएं कुछ आकड़ों के आधार पर अपनी गर्भावस्था होने की जिज्ञासा को, नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट करते शांत कर सकती है।इस टेस्ट को करने से महिला को कोई नुकसान नहीं पहुँचता है, इसलिए ये तरीका आजमाना सुरक्षित है। तो इस टेस्ट का परिणाम कैसे देखा जाता है और यह कितना सही होता है, आइये अच्छे से जानते हैं।

नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे होता है

जब महिला गर्भ धारण करती है तो उसकी मासिक धर्म रुक जाता है। इस दौरान शुरुआत में मूत्र में एचसीजी यानी ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन हार्मोन का उत्पादन होता है। नींबू पेशाब में इसी हार्मोन की उपस्थिति की जाँच करता है। यदि नीबू से जाँच करते वक्त इस हार्मोन की उपस्थिति पेशाब में अधिक मिलती है तो समझ लीजिए की आप गर्भवती हैं।

इस जाँच के दौरान नींबू पेशाब के साथ एक रासायनिक क्रिया करता है, यदि इस दौरान पेशाब में ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन की उपस्थिति मिलती है तो पेशाब का रंग हरा हो जाता है। जो संकेत देता है की आप गर्भवती हैं।

यह जाँच अक्सर सुबह मे करने से परिणाम सटीक आता है। क्योंकि सुबह के वक्त पेशाब में इस हार्मोन की मात्रा अधिक होती है। दोपहर या रात के समय यह जाँच करने पर सही परिणाम नहीं मिलता है।

नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट करने का सही तरीका

 करने का सही तरीका

काफी महिलयों को घर पर गर्भावस्था जाँच करने का सही तरीका नहीं पता होता है, जिससे जाँच करने पर सही परिणाम नहीं मिलता है। और उन्हे आखिरकर डॉक्टर के पास जाना पड़ता है। गर्भावस्था जाँच के लिए चाहे आप गर्भावस्था किट या घरेलू तरीका दोनों में से कुछ भी आजमा रही हो, आपको सही तरीका पता होना बहुत आवश्यक है। तो चलिए जानते हैं।

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए सामग्री

  • एक खाली गिलास
  • एक नींबू
  • सुबह का पेशाब

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने का तरीका

  • जब भी आपका मासिक धर्म आना बंद हो जाये तो हो सकता की आप “माँ ” बनने वाली हैं।
  • यदि लगभग 10 दिन से तक मासिक धर्म ना आये तभी यह जाँच करें।
  • इसके लिए सबसे पहले एक खाली ग्लास में सुबह का पेशाब लें।
  • इसके बाद इसके एक नींबू काटकर उसका रस निचोड़ दें।
  • इसके बाद नींबू और पेशाब की बीच कुछ रासायनिक प्रतिक्रिया के लिए कुछ देर इंतजार करें।
  • यदि यह हरा हो जाता है तो यह संकेत है की आप गर्भवती है?

इस जाँच के परिणाम को बेहतर तरीके से समझने के लिए मैं आगे इसको विस्तार से बता रही हूँ।

पढे: झड़ते बालों से हैं परेशान तो आज ही बदले अपना शैम्पू

नींबू से गर्भावस्था जाँच के परिणाम को कैसे समझें?

 करने का सही तरीका

ऊपर मैंने नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट करने का तरीका बताया जिससे आप समझ गई होंगी की कैसे जाँच करना है। चलिए आप इस जांच के परिणाम को कैसे समझेंगी वो बताती हूँ।

प्रेगनेंसी टेस्ट परिणाम सकारात्मक (पॉजिटिव) कब आता है

मान्यताओ के अनुसार जब गिलास में नींबू और पेशाब के रासायनिक प्रतिक्रिया के परिणाम स्वरूप पेशाब का रंग हरा हो जाता है तो यह आपके गर्भवती होने का संकेत देता है। इस समय पेशाब का रंग गाढ़ा हरा हो जाता है।

प्रेगनेंसी टेस्ट परिणाम नकारात्मक (निगेटिवे) कब आता है

जब गिलास में नींबू और पेशाब के रासायनिक प्रतिक्रिया के परिणाम स्वरूप पेशाब का रंग हरा नहीं होता है तो यह संकेत देता है की आप गर्भवती नहीं है। इसमें नींबू और पेशाब के रासायनिक प्रतिक्रिया के परिणाम स्वरूप पेशाब का रंग बदलता ही नहीं है।

नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट का परिणाम कितना सही होता है?

नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट का परिणाम कितना सही है इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। लेकिन काफी महिलाओं ने इस घरेलू नुस्खे को अपने ऊपर आजमाया है। जिसके परिणाम स्वरूप कई महिलाओं के लिए इस जाँच का परिणाम सकारात्मक रहा है। वही दूसरी तरफ कुछ महिलाओं को नकारात्मक परिणाम मिले हैं।

कई बार ये भी देखा गया है की कुछ महिलायें के पहली बार जांच करने पर इसका परिणाम नकारात्मक रहा है, फिर कुछ दिन बाद दुबारा इसी जाँच को करने पर परिणाम सकारात्मक मिला।

तो कुछ साफ साफ नहीं साबित होता की यह जाँच कितने हद तक सही है और कितना गलत। इसलिए यदि आप माँ बनने की सोच रही हैं तो केवल इस घरेलू जाँच के भरोशे ना बैठें। इसके बाद एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

इसको भी देखे : शुक्राणु बढ़ाने की दवा पतंजलि | सेक्स पावर कैप्सूल से बढ़ाएं कामेक्षा

गर्भावस्था की जाँच के लिए घर पर नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट कब करना चाहिए?

घर पर नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट करना बहुत सी बातों पर निर्भर कर सकता है।

  • यदि आपका मासिक धर्म 10 दिन से बंद है, नहीं आ रहा है तो आप इसका जांच कर सकती है।
  • यदि आप पहली बार माँ बनने जा रही हो और बाहर जाकर गर्भवस्था किट लेने में हिचकिचाहट हो रही है तो भी यह जाँच कर सकती है।
  • यदि आपको संदेह है, की आप गर्भवती हैं या नहीं और डॉक्टर के पास जाने में हिचकिचाहट हो रही तो भी इस जाँच से काफी हद तक आपको अंदाजा मिल जाएगा की गर्भवती हैं या नहीं।
  • शरीर में जब हार्मोन का स्तर बढ़ता है तो, मिचली, चिड़चिड़ाहट भी होती है, तब आपको यह जाँच कर सकती है।

डॉक्टर से संपर्क करें

 डॉक्टर से संपर्क करें

यदि आप घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कर रही और परिणाम आने पर आपको कोई संदेश होता है तो आप डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। मेरा तो मानना है की खासकर तब अवश्य दिखाएं जब आप पूरी तरह से सहमत हैं की आप गर्भवती हैं लेकिन घरेलू जाँच के परिणाम नकारात्मक आते हैं, तो आपको घरेलू जाँच के भरोसे नहीं बैठना चाहिए।

इन कुछ लक्षणों के दिखने पर डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए।

  • मासिक धर्म हफ्ते भर से अधिक रुकने पर।
  • जी मिचलाने पर
  • उल्टी और थकान महसूस होने पर
  • चिड़चिड़ाहट होने पर
  • ब्रैस्ट संवेदनशील होना
  • चटपटा खाने का मन करना
  • रात में बार-बार पेशाब आना

इन सभी परिस्थितियों में आपको डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिये।

पढ़ें: टाइम बढ़ाने की मेडिसिन पतंजलि- फायदे और साइड इफेक्ट्स

घर पर कैसे पता करे की प्रेग्नेंट है या नहीं?

जब आप प्रेगनेन्ट होती है तो शुरुआत में इसके कुछ लक्षण दिखाई देने लगते हैं। यदि आपका पिरियड्स समय पर ना आये तो हो सकता की आप गर्भवती हैं। ऐसी परिस्थिति में आप घर पर भी पता लगा लगा सकती है।

बाजार में बहुत से किट उपलब्द है उसमे अपना सुबह का पेशाब डाले। यदि उसमें दो लाल लाइन बन कर आती तो आप गर्भवती हैं।

शैंपू से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें?

शैम्पू से प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए सबसे पहले शैम्पू का झाग बना लें। और उसमें अपना सुबह का पेशाब डालें। इसको डालने के बाद पेशाब और शैम्पू आपस में रासायनिक प्रक्रिया करके झाग का रंग नीला होना शुरू हो जाता है। तो समझ लीजिए की आप गर्भवती हैं और यदि रंग नहीं बदलता तो आप गर्भवती नहीं हैं।

प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है?

मासिक धर्म रुकने के 10 से 15 दिन बाद ही प्रेगनेंसी के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। यदि आप प्रेगनेंसी के लक्षण को समझना चाहती है तो इन दिनों आपको थकान जैसी महसूस होगा। किसी-किसी को शुरुआत में खूब उल्टी भी होती है। ये सभी बाते संकेत देती है की आप प्रेगनेन्ट हैं।

पीरियड के कितने दिनों बाद प्रेगनेंसी का पता चलता है?

पीरियड रुकने के 10 से 15 दिन बाद पता चल जाता है की आप प्रेगनेन्ट हैं। यह समय बढ़ भी सकता है, कभी-कभी पता लगने में महीने भर भी लग जाता है। इसलिए यदि अधिक समय तक मासिक धर्म ना आये तो आपको डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए।

गलती से प्रेग्नेंट हो जाए तो क्या करें?

यदि आपने निश्चित नहीं किया है की आपको माता-पिता बनना है या नहीं और आप गलती से गर्भ-धारण कर लें तो आपको घबराना नहीं चाहिए।
1. ऐसी परिस्थिति में जब मासिक-धर्म 5 दिन से अधिक रुके तो आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए, क्योंकि शुरुआती दिनों में पता चलने पर इसका हल निकाला जा सकता है।
2. यदि आप गलती से गर्भवती हो जाये तो एक दूसरे पर इल्जाम लगाकर लड़ाई ना करें।
3. दोनों को मिलकर फैसला करना चाहिए।

निष्कर्ष

आपने देखा की घर पर कितनी आसानी से गर्भावस्था की जाँच किया जा सकता है। इस पोस्ट के माध्यम से मैंने जाँच कैसे कर सकते है इसकी पूरी जानकारी दी है मैंने। तो यदि किसी भी महिला का मासिक धर्म ठीक से नहीं आ रहा या काफी दिन से रुका है तो वो इस माध्यम से टेस्ट करके जान सकती है की वो गर्भवती है या नहीं।

लेकिन मैं आपको यह साफ-साफ बता दूँ की यह जाँच पूरी तरीके से, सही परिणाम नहीं देता है। तो आप इस नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट के परिणाम पर एकदम निर्भर ना हो।इस पर पूरी तरह से निर्भर होना आपके लिए ठीक साबित नहीं होगा। इसलिए डॉक्टर को जरूर दिखाए।

उम्मीद है यह रोमांचक पोस्ट पढ़कर आपको मज़ा आया होगा। यदि आप इस पोस्ट में दिए गये नुस्खे को आजमाती है तो आपके लिए इसका परिणाम कितना सही रहा ये मुझे जरूर बताए। और गर्भवस्था से जुड़ा कोई सवाल हो तो आप कमेन्ट में पूछ सकती हैं।

Leave a Comment